Vrushali Anil Sonawane's Blog (14)

Dark mind!

before him,

she never bothered about anybody else.

she never used to think about life with someone.

it was his magical presence

that she was addicted to

that she always wanted to do everything for both of them.

and somewhere between their love and scattered schedule

lived a monster thought..

the fear, that will take everything away

fear that will rip apart all the affection they ever built...

but you my sweetheart,

you know it way better than…

Continue

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 27, 2020 at 5:52pm — No Comments

आदत

क्या कभी आदत लगी है किसिकी आपको?

आदत इस कदर

की उनका गलत होना भी,

आपको सही लगने लगता है।



आदत इतनी

की चाहे नाराज़ आप हो,

पर मनाना भी आपको ही पड़ता है।



आदत इतनी

की किसिरोज़ उनसे बात ना हुई,

तो दिल बेचैन होने लगता है।



आदत इतनी

की हर झगड़े की बाद,

उसे खोने का डर लगता…

Continue

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 20, 2020 at 7:06pm — No Comments

Video call

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 19, 2020 at 6:27pm — No Comments

तेरी आवाज़

अब मैं इस लिए नहीं लिखती की मुझे कुछ कहना होता है,

अब मैं इस लिए लिखती हूँ

की मुझे मेरे लफ्ज़ तेरी आवाज़ में सुन्ना होता है

मैं चमक देखती हूँ तेरी इन् आँखों में

जब मेरा लिखा हर एक शब्द तू मुस्कुराते हुए पड़ता है,

वो तो मैं ही…

Continue

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 18, 2020 at 5:30pm — No Comments

चाँद और सूरज की कहानी

तू सूरज बनना,
मैं चाँद बनूँगी,

तू रौशनी डालते रहना दुनिया मे
मैं दूर से तुझे देखती रहूंगी,

और जब रात आये और तू चला जाए
तो तेरे जैसे मैं भी चमक उठूंगी।

- वृषाली

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 17, 2020 at 12:44pm — No Comments

ये कोशिशें...

मैं उसे अपनी मंज़िल समझ बैठी थी.. 
शायद इसी लिए उसे कभी पा ना सकी,
खुशी समझ ली होती 
तो शायद ये कोशिशें कभी ना रुखती।

- वृषाली 

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 17, 2020 at 2:30am — No Comments

तेरा साया

कमानेके लिए कौन काम करता है,
वो तो कंबक़्त वक़्त है
जो साये की तरह
मुझे तेरी यादों के साथ घेर लेता है।

काश कोई ऐसा दिन आए,
बस ये वक़्त कट जाए
और किसी दिन तेरी याद ना आए
तो शायद बात बन जाए।

- वृषाली 

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 15, 2020 at 10:48pm — No Comments

A poet!

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 14, 2020 at 6:51pm — No Comments

Soul like you deserve way better than what you are going through...


 

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 13, 2020 at 8:04pm — No Comments

Dreaming wonders together!

Our imagination have no limits. Our thoughts, our feelings, the sensation reaches another level when we dream about both of us together. We see us smiling, we see us wrapping each other in our arms when either of us needs anybody. We build our homes and spread happiness all around. He have faith in what I see. We promise to stick together whether it be in ups or downs. Yes, he deserves to be loved and she deserves to be cared. They are keepers. Keepers dreaming wonders in each other's…

Continue

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 13, 2020 at 1:30pm — No Comments

Insomniac

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 9, 2020 at 4:17pm — No Comments

He is magical!

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 9, 2020 at 12:16am — No Comments

Blended

Added by Vrushali Anil Sonawane on August 8, 2020 at 2:35pm — No Comments

Blog Posts

Let me kiss you !

Posted by Jasmine Singh on April 17, 2021 at 2:07am 0 Comments

वो जो हँसते हुए दिखते है न लोग अक्सर वो कुछ तन्हा से होते है पराये अहसासों को लफ़्ज देतें है खुद के दर्द पर खामोश रहते है जो पोछतें दूसरे के आँसू अक्सर खुद अँधेरे में तकिये को भिगोते है वो जो हँसते…

Posted by Pooja Yadav shawak on March 24, 2021 at 1:54pm 0 Comments

वो जो हँसते हुए दिखते है न लोग
अक्सर वो कुछ तन्हा से होते है
पराये अहसासों को लफ़्ज देतें है
खुद के दर्द पर खामोश रहते है
जो पोछतें दूसरे के आँसू अक्सर
खुद अँधेरे में तकिये को भिगोते है
वो जो हँसते हुए दिखते है लोग
अक्सर वो कुछ तन्हा से होते है

Continue

मेरी जिंदगी

Posted by Monica Sharma on March 23, 2021 at 11:54am 0 Comments

पंच तत्व

Posted by Sakshi garg on February 16, 2021 at 11:18pm 0 Comments

जब मुझे पता चला कि तुम पानी हो
तो मै भीग गया सिर से पांव तक ।

जब मुझे पता चला कि तुम हवा की सुगंध हो
तो मैंने एक श्वास में समेट लिया तुम्हे अपने भीतर।

जब मुझे पता चला कि तुम मिट्टी हो
तो मै जड़ें बनकर समा गया तुम्हारी आर्द्र गहराइयों में।

जब मुझे मालूम हुआ कि तुम आकाश हो
तो मै फैल गया शून्य बनकर।

अब मुझे बताया जा रहा है कि तुम आग भी हो•••
तो मैंने खूद को बचा कर रख है तुम्हारे लिए।

तुम !

Posted by Jasmine Singh on February 16, 2021 at 7:23pm 0 Comments

Posted by Monica Sharma on January 30, 2021 at 10:38am 0 Comments

Posted by Monica Sharma on January 29, 2021 at 6:07pm 0 Comments

© 2021   Created by Facestorys.com Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Privacy Policy  |  Terms of Service