Anmol Arora
  • Rajasthan
  • India
Share

Anmol Arora's Friends

  • Jasmine Singh
  • Jayveersinh Aswar
  • Geeta Negi
  • Sanket Joshi

Anmol Arora's Groups

 

Anmol Arora's Page

Latest Activity

Anmol Arora is now friends with Jayveersinh Aswar and Geeta Negi
Aug 31
Jasmine Singh commented on Anmol Arora's blog post इंतज़ार
"Keep it up !"
Aug 24
Sakshi garg liked Anmol Arora's blog post इंतज़ार
Aug 24
Jasmine Singh liked Anmol Arora's blog post इंतज़ार
Aug 24
Geeta Negi liked Anmol Arora's blog post इंतज़ार
Aug 24
Jayveersinh Aswar liked Anmol Arora's blog post इंतज़ार
Aug 24
Geeta Negi liked Anmol Arora's blog post इंतज़ार
Aug 23
Anmol Arora posted a blog post

इंतज़ार

चल लड़ ही ले फोन करकेआवाज़ तो सुनने को मिलेगीअब थाली में रोटी भी सूखी सी हैतुझ जैसी चटपटी बात कहां मिलेगीमैं रंग बिरंगी दुनिया कातुझ जैसी सादगी कहां मिलेगीमैं प्यार के मुकाम ढूंडूतुझ से बढ़िया मंज़िल कहां मिलेगीमेरी आंखों से टपकते बेअख्तियार आंसूतेरे बाज़ार से बढ़िया मोल इनकी कहां मिलेगीओर ये तेरी बातों के किस्से ये रात कहां रुकेगीSee More
Aug 23
Anmol Arora joined Facestorys.com Admin's group
Thumbnail

Gulzar

A group dedicated to renowned Poet and writer Gulzar.See More
Aug 20
Jasmine Singh liked Anmol Arora's blog post Khayaal
Aug 20
Jasmine Singh and Anmol Arora are now friends
Aug 20
Sakshi garg liked Anmol Arora's blog post Khayaal
Aug 20
Anmol Arora liked Jasmine Singh's blog post परी हो तुम !
Aug 19
Anmol Arora posted a blog post

Khayaal

Aaj mere mann mein ek khayaal aaya....Kya woh bhi sochta hoga mere baare....Ya niakaal dia usne apne mann se bhi mujhe...Chaand se judaa ho sakte hain taare?Kabhi galti se meri gali se toh guzarta hoga....Ya raaste vhaan se bhi badalta hoga....Mjhe thoda waqt dena chahiye use....Shayad abhi zindagi mein sambhalta hoga....Woh lamhe jo yaad bann gye....Kya unka repeat chlata hoga.....Koi jab poochta hoga mere baare......Na jaane kya woh btata hoga.....Aashiq jhoota ya ashiqui jhooti.....Fark toh…See More
Aug 19
Anmol Arora is now a member of Facestorys.com
Aug 18
Anmol Arora liked Jasmine Singh's profile
Aug 17

Profile Information

First Language
Hindi
How did you come to know about us?
Instagram

Anmol Arora's Blog

इंतज़ार

Posted on August 23, 2020 at 10:06pm 1 Comment

चल लड़ ही ले फोन करके
आवाज़ तो सुनने को मिलेगी

अब थाली में रोटी भी सूखी सी है
तुझ जैसी चटपटी बात कहां मिलेगी

मैं रंग बिरंगी दुनिया का
तुझ जैसी सादगी कहां मिलेगी

मैं प्यार के मुकाम ढूंडू
तुझ से बढ़िया मंज़िल कहां मिलेगी

मेरी आंखों से टपकते बेअख्तियार आंसू
तेरे बाज़ार से बढ़िया मोल इनकी कहां मिलेगी

ओर ये तेरी बातों के किस्से
ये रात कहां रुकेगी

Khayaal

Posted on August 19, 2020 at 11:27pm 0 Comments

Aaj mere mann mein ek khayaal aaya....

Kya woh bhi sochta hoga mere baare....

Ya niakaal dia usne apne mann se bhi mujhe...

Chaand se judaa ho sakte hain taare?



Kabhi galti se meri gali se toh guzarta hoga....

Ya raaste vhaan se bhi badalta hoga....

Mjhe thoda waqt dena chahiye use....

Shayad abhi zindagi mein sambhalta hoga....



Woh lamhe jo yaad bann gye....

Kya unka repeat chlata hoga.....

Koi jab poochta hoga mere… Continue

Comment Wall

You need to be a member of Facestorys.com to add comments!

Join Facestorys.com

  • No comments yet!
 
 
 

Blog Posts

શું? આ છે જિંદગી !

Posted by Sonu on October 15, 2020 at 7:36pm 0 Comments

મૃગ તરસે જળ દોડી દોડી હાથધર્યું ઝાંઝવાનીર, માનવ ભૂખ્યો પ્રેમનો મથામણ કરી પામ્યો વહેમ 

શું? આ છે જિંદગી !

રોણુ જન્મ ને મરણ સમયે સમાન મનોવ્યથા, આંતરીક ગુપશુપ ચાલી રહી ભીતર

શુ ? આ છે જિંદગી !

રાજકુમારો ને મહેલોના સપનામાં  રાચતા, આંખો ખુલી અરે ! આતો મૃગજળસમું સ્વપ્નલોક

શુ? આ છે જિંદગી !

મુખપર હસી ઠીઠોલી, મનમાં કરોડો તરંગ ઉછળે! વિચારે તો જાણે ઘેરો ઘાલ્યો

શુ? આ છે જિંદગી !

ભોરથતા આશબંધણીકાલે નહીતો આજે, હશે પિયુ સંગ સ્નેહમિલન પણ આતો…

Continue

तुझको लिखती रहूंगी मैं !

Posted by Jasmine Singh on October 15, 2020 at 1:22am 0 Comments

तुझे लिखती रहूंगी मैं

तेरे प्यार की स्याही में

अपनी कलम को डुबो कर

इस ज़िंदगी के पन्नों पे

तेरे साथ जिये लम्हों को

कविताओं में बुनकर

तुझको लिखती रहूंगी मैं

तुझको जीती रहूंगी मैं

तू वो है जो मेरे साथ है

और मेरे बाद भी रहेगा

कभी किसी के होठों में हंसेगा

किसी की आंखों से बहेगा

किसी अलमारी के पुराने

दराज की खुशबु में महकेगा

किसी की आंखों की गहराई

जब जब मेरे शब्दों में उतरेगी

तब तब मेरे बाद तुझे पढ़ने वालों के…

Continue

इल्ज़ाम ए इश्क़

Posted by Monica Sharma on October 14, 2020 at 9:12pm 0 Comments

धीरे-धीरे सब दूर होते गए

वक़्त के आगे मजबूर होते गए

रिश्तों में हमने ऐसी चोट खाई की

बस हम बेवफ़ा और सब बेकसूर होते गए

इल्ज़ामों की श्रृंखला बड़ी लंबी थी साहेब

वो लगाते गए हम मुस्कुराते गए

अपनी झुकी हुई भीगी पलकों के नीचे

जख्म ए इश्क़ हम छुपाते चले गए

बरसों किया इंतजार हमने

तेरी मीठी सी मुस्कान का

पर बेरहम तुम नजरों से

कत्ल करने को खंजर चलाते गए

जिक्र ए इश्क़ जो कभी सुनाई दे

जुबां पे तेरा नाम और

नज़रों में तेरा अक्स दिखाई…

Continue

आसमान से ऊंचा

Posted by Sakshi garg on October 14, 2020 at 10:16am 1 Comment

अक्सर सिर की छत बन कर धूप और बारिश से बचा लेता है पिता...

यूं ही नहीं उसे आसमान से भी ऊंचा कहते ।

दो बातें

Posted by Sakshi garg on October 14, 2020 at 10:13am 0 Comments

कुछ बातें इन दो कारणों से भी तकलीफ दे देती हैं : 

1• काश ! ये सब सच होता ।;

2• काश ! ये सब झूठ होता ।

पिता

Posted by Sakshi garg on October 10, 2020 at 9:02pm 0 Comments

मुझे रखा छांव में, खुद जलते रहे धूप में...

हां मैंने देखा है फरिश्ता अपने पिता के रूप में ।।

भ्रम

Posted by Monica Sharma on October 5, 2020 at 11:27pm 0 Comments

बड़ा गुरूर था हमें अपनी मोहब्बत पर
भ्रम तो तब टूटा जब तेरे वजूद में
अपने लिए जगह भी न मिली
सोचा था तेरे दिल में जगह बना ली है
हकीकत तो तेरी यादों में भी ना थे हम
बड़े बड़े तूफ़ान ना हिला सके हमें
तेरी ख़ामोशी ने झकझोर दिया
उम्मीद न रही तेरे प्यार की जब
लगा जैसे अपनों ने ही मुंह मोड़ लिया
जी रहे थे जिंदगी किसी भ्रम में हम
अब तो उस भ्रम ने भी साथ छोड़ दिया

मुझे दुख है !

Posted by Jasmine Singh on October 3, 2020 at 12:41am 0 Comments

© 2020   Created by Facestorys.com Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Privacy Policy  |  Terms of Service