Holy crown

Monday,19th November 2018

 

I shall still rise

and surprise

with my poems

with best-suited theme

 

I will need no certificate

or of any sort to relate

with the words to my creations

I shall always be open for the human relation

 

Why do I need fame?

And claim

The worthy place

And remain in mad chase

 

I am poet

And should remain quiet

With no show off

Even if the people make laugh

 

I have yet to prove

And move

In the direction

Where awaits real harmonious recognition

 

Yes,I shall go down

And remain unknown

But shall always be flown

To the land of the holy crown

 

Hasmukh Mehta

Views: 17

Comment

You need to be a member of Facestorys.com to add comments!

Join Facestorys.com

Blog Posts

बेटियां

Posted by Jasmine Singh on September 28, 2020 at 8:39am 0 Comments

शादी क्या हुई !!

Posted by Jasmine Singh on September 26, 2020 at 11:27pm 0 Comments

The two universes unites

Posted by Sakshi garg on September 26, 2020 at 8:47pm 0 Comments

मां

Posted by Monica Sharma on September 25, 2020 at 11:45pm 0 Comments

मेरी ख़ामोश सी निग़ाहों को

बिन कहे पढ़ लेती है

मेरी भूल को छुपाने को

दुनिया से लड़ लेती है

जो वजूद है मेरा,उसका कहना ही क्या

भगवान से भी पहले, आती है मेरी मां

कितने राज़ थे मेरे

जो दुनिया से छुपाए बैठी है

अपनी पलकों में आंसू

मोती से सजाएं बैठी है

मेरी छोटी सी उफ़ पर

रातों को भूल जाती थी

सिराहने बैठ मेरे प्यार से

सिर को सहलाती थी

टुकड़े हाथों से तोड़ कर

जब मुझे खिलाती थी

खाता देख मुझे उसको

तृप्ति मिल जाती…

Continue

मेरा प्यार मुझसे रूठ गया

Posted by Monica Sharma on September 22, 2020 at 7:25pm 0 Comments

एक तारा अंबर से टूट सा गया

मेरा प्यार मुझसे रूठ सा गया

जाने किस बात पर की अनबन

तोड़ लिया रिश्ता जैसे टूटे दर्पण

कहा था तुमने कभी तुम छाता हो मेरा

संभालू ठीक से तो उम्र भर रहेगा मेरा

बदलकर आज वो मुझे लूट सा गया

मेरा प्यार मुझसे रूठ सा गया

मनाया लाख पर उसने कहां मानी

मेरे प्यार को समझा कोई झूठी कहानी

हज़ारों बार मैंने उसे फ़रियाद भेजी

पर वक़्त की कमी में उसने न देखी

संग चलने का वादा था वो टूट सा गया

मेरा प्यार मुझसे रूठ सा…

Continue

एक तरफा प्यार

Posted by Sakshi garg on September 21, 2020 at 5:21pm 0 Comments

कभी कभी लगता है कि तुमसे मेरा प्यार आज भी एक तरफा ही है ।

तुम्हारी एक झलक के लिए मै हर पल उतावली हूं, 

तुम भी देखो मुझे प्यार से इसी की मैं प्यासी हूं, 

पर तुम देखते ही नहीं मुझे उस तरह, 

जिस तरह मै देखती हूं तुम्हे हर दफा, 

शायद किस्मत मुझसे खफा ही है... 

कभी कभी लगता है कि तुमसे मेरा प्यार आज भी एक तरफा ही है ।।

जो रातें अकसर जागती हूँ तेरी यादों में उनका कहीं बहीखाता होगा क्या ..Ra$hi

Posted by Rashmi on September 19, 2020 at 9:44pm 0 Comments

जो रातें अकसर जागती हूँ तेरी यादों में उनका कहीं बहीखाता होगा क्या ..Ra$hi

Continue

मेरे पतिदेव

Posted by Monica Sharma on September 18, 2020 at 8:14pm 0 Comments

लाखों की भीड़ में सबसे जुदा

मानो न मानो वो है मेरा खुदा

दिल में न उसके है कोई फरेब

ऐसे प्यारे से है मेरे पतिदेव

हर जिम्मेदारी को हंस कर निभाना

हो मुश्किल कभी तो लगे गाने गाना

ढूंढ न सकोगे उनमें कोई भी एब

ऐसे प्यारे से है मेरे पतिदेव

चाहत कभी वो जताते नही

मीठी- मीठी बातें कभी वो बनाते नही

सातों जन्म न मिले तो होगा मुझे खेद

ऐसे प्यारे से है मेरे पतिदेव

तेरा गुस्सा और नखरा सब सह जाऊंगी

बहती आंखों से बाते सब कह जाऊंगी

तेरी…

Continue

Radhakrishn

Posted by Sakshi garg on September 18, 2020 at 12:12pm 0 Comments

चेहरा नहीं किताब हैं वो !

Posted by Jasmine Singh on September 18, 2020 at 12:01pm 0 Comments

चेहरा नहीं किताब हैं वो,
आम होकर भी बहुत नायाब हैं वो,
रोज़ करती हूं कोशिश,
उन हसरतों को पढ़ने की,
जिन्हे छुपाने में बहुत उस्ताद हैं वो !
© Reserved by Jasmine Singh

© 2020   Created by Facestorys.com Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Privacy Policy  |  Terms of Service